चंदौली जिलाधिकारी के कार्यालय में जाकर गुरुवार को सकलडीहा विधायक प्रभु नारायण यादव के नेतृत्व में सभासद विनय यादव डब्बू आदि ने डीएम से मिलकर पत्रक सौंपा। शहर के वार्ड नंबर 7 पथरा भाग 2 में पानी टंकी आवंटित होने के बाद भी जमीन के अभाव में निर्माण कार्य नहीं हो रहा है। इससे वार्डवासियों को पेयजल के किल्लत से दो-चार होना पड़ रहा है। इस दौरान जिलाधिकारी से जमीन उपलब्ध कराने की मांग की।

वार्डवासियों ने बताया कि पथरा भाग 2 में पेयजल की असुविधा को देखते हुए जल निगम द्वारा अमृत योजना के तहत पानी टंकी स्वीकृत किया। लेकिन जमीन के अभाव में निर्माण कार्य नहीं कराया जा रहा है। जबकि वार्ड में बहुत से बंजर जमीन हैं। जिसको अधिकत्तर वार्डवासियों ने अतिक्रमण कर लिया है। विडम्बना तो यह है कि शिकायतों के बावजूद भी नगर पालिका द्वारा बंजर जमीन का सीमांकन नहीं कराया जा रहा है।

साथ ही कहा कि जिले की सभी प्रमुख सड़कों की हालत एकदम जर्जर हो चुकी है। आवागमन के दौरान लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन इसके बाद भी विभागीय अधिकारी सड़कों को बरसात से पहले गड्ढ़ामुक्त करने में कोई दिलचस्पी नहीं ले रहे है।

इसके साथ ही सकलडीहा कस्बा में नाली निर्माण में ठेकेदार के द्वारा खराब गुणवत्ता की गिट्टी डालने का आरोप लगाया। डीएम ने विधायक को आश्वस्त किया कि जल्द ही वह सभी समस्याओं का समाधान करने का प्रयास करेंगे।

विधायक ने कहा कि जिले में सड़कों पर धड़ल्ले से ओवरलोड वाहनों का संचालन हो रहा है। जिससे प्रमुख सड़के अलीनगर सकलडीहा मार्ग, मुगलसराय चहनिया, सकलडीहा मारुफपुर मार्ग तथा सकलडीहा अमड़ा मार्ग की हालत एकदम जर्जर हो चुकी है। सड़कों पर पैदल चलना दुश्वार हो गया है। जबकि बरसात के दिनों में सड़कों के खराब होने से दुर्घटना की संभावना बढ़ जाएगी। कहा कि सकलडीहा कस्बा में सड़क और नाली निर्माण के लिए धन अवमुक्त हुआ है। लेकिन ठेकेदार के द्वारा गुणवत्तायुक्त काम नहीं किया जा रहा है।

उसके पास मानके अनुरुप कोई सयंत्र नहीं है। साथ ही गिट्टी सहित अन्य सामाग्री की गुणावत्ता संदेहास्पद है। कहा कि बरसात से पहले सभी प्रमुख सड़कों को गड्ढ़ामुक्त कराना आवश्यक है और सकलडीहा कस्बा में ठेकेदार के द्वारा कराए गए कार्य की जांच कराई जाय। इस दौरान खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के पूर्व सदस्य संतोष यादव, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष प्रदीप यादव, धीरु यादव उपस्थित रहे।