चंदौली जिले में एक ओर जहां सरकार कालाबाजारी व मुनाफाखोरी समाप्त करने के लिए लगातार हाईटेक व्यवस्था करते हुए ऑनलाइन खाद्यान्न वितरण की टेक्नोलॉजी के साथ राशन बांटने का फरमान दिया है, वहीं कालाबाजारी करने वाले कोटेदार अभी भी अपने कारगुजारियों से बाज नहीं आ रहे हैं। वह गरीबों का राशन बांटने की जगह बेंच रहे हैं।

सकलडीहा तहसील क्षेत्र के महुंजी गांव के ग्रामीण कोटेदार की मनमानी से आजिज आकर आज फिर सकलडीहा तहसील गेट पर कोटेदार मुर्दाबाद के नारे लगाकर खाद्यान्न की दुकान को निरस्त करने की मांग करते देखे गए। ग्रामीणों का आरोप है कि वर्तमान कोटेदार पात्र लोगों का नाम कटवा कर अपात्रों को पात्र गृहस्थी कार्ड आवंटित कराया है और जिनका कार्ड बना भी है, उनको खाद्यान नहीं देकर कालाबाजारी कर अपनी जेब भर रहा है।

हालांकि इस संबंध में एसडीएम ने एक दिन पूर्व आपूर्ति निरीक्षक से जांच कराई थी, लेकिन कोई सार्थक परिणाम नहीं निकला। कोई राहत न मिलने पर ग्रामीणों ने फिर आज तहसील दिवस पर पहुंचकर प्रदर्शन किया और मांग किया कि तत्काल कार्यवाही नहीं होती है, तो हम सब पीड़ित जिला मुख्यालय पर पहुंचकर जिलाधिकारी कार्यालय पर भी प्रदर्शन करने को बाध्य होंगे।