FIR दर्ज होने के बाद प्रभुनारायण यादव का ऐलान : मुकदमा वापस न हुआ तो और बड़ा होगा आन्दोलन

किसान विरोधी विधेयक पास होने के बाद सोमवार को सपा कार्यकर्ताओं द्वारा इसके विरोध में किसान पदयात्रा निकाल कर विरोध दर्ज कराया था। जिसके खिलाफ मंगलवार को 10 नामजद सहित पांच सौ अज्ञात पर प्रशासन द्वारा मुकदमा पंजीकृत होने की खबर लगते ही सपाइयों में उबाल आ गया इसको लेकर जगह-जगह सपा कार्यकर्ता बैठक कर अगली रणनीति तैयार करने में जुट गए। मंगलवार को कैलाशपुरी मैं कार्यकर्ताओं की बैठक आयोजित हुई।

बैठक में सकलडीहा विधायक प्रभु नारायण यादव ने कहा कि किसानों ,नौजवानों, बेरोजगारों, व्यापारियों के हक की लड़ाई लड़ने से भी भाजपा की तानाशाह सरकार रोकने का काम कर रही है। इसके तहत ही प्रशासन द्वारा सपाइयों पर मुकदमा किया गया है, जबकि गांधीवादी तरीके से सपा कार्यकर्ता इसका विरोध दर्ज कराया था। अगर यह मुकदमा वापस नहीं हुआ तो सपा कार्यकर्ता एक बार फिर सड़क पर उतर कर इसके खिलाफ जन आंदोलन करने का काम करेंगे।

बैठक में मुख्य रूप से खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के पूर्व सदस्य संतोष यादव, छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष प्रदीप यादव, अमर सिंह गोंड, पंकज कुमार,दयाशंकर मौर्य,कृष्णा सिंह आदि लोग मौजूद रहे।