संतोष उपाध्याय ने छोड़ दी समाजवादी पार्टी, ब्राह्मणों की उपेक्षा का आरोप

चंदौली जिले में समाजवादी पार्टी के टिकट वितरण से नाराज नेता एक-एक करके पार्टी छोड़ते जा रहे हैं। अब पार्टी छोड़ने वालों में ताजा नाम पार्टी के जिला सचिव रहे संतोष उपाध्याय का जुड़ गया है।

बताया जा रहा है कि उन्होंने अपने माता श्रीमती गायत्री उपाध्याय को जिला पंचायत का टिकट मांगा था। इसके लिए जब पार्टी ने उनके माता के नाम को समर्थन नहीं किया तो वह अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए इस्तीफा देने का फैसला किया। उन्होंने शुक्रवार को पार्टी अध्यक्ष को अपना इस्तीफा सौंप दिया है।

आपको बता दें कि संतोष उपाध्याय 1999 से 2005 तक छात्र सभा के जिला सचिव रहे जबकि 2010 से 2012 तक युवजन सभा के जिला सचिव पद पर भी काम कर चुके हैं। संतोष उपाध्याय ने सपा के जिला अध्यक्ष के नाम जारी स्थिति में लिखा है कि पार्टी के अंदर ब्राह्मणों को उचित सम्मान नहीं दिया जा रहा है इसलिए वह आहत होकर इस्तीफा दे रहे हैं।

उन्होंने कहा कि वह लगातार 20 सालों से समाजवादी पार्टी के लिए मेहनत करते हुए काम कर रहे थे, लेकिन उनकी मेहनत का उनको कोई सिला नहीं दिया गया। इसीलिए वह पार्टी छोड़कर अपनी मां के चुनाव प्रचार में जुड़ रहे हैं।