कांग्रेस के सिंबल - शिवकन्या कुशवाहा

चंदौली जिले की संसदीय सीट के लिए कांग्रेस ने एक समय बसपा सुप्रीमो मायावती के करीबी रहे पूर्व मंत्री बाबू सिंह कुशवाहा की पत्नी शिवकन्या कुशवाहा को अपनी पार्टी का उम्मीदवार बनाया है। कांग्रेस ने चंदौली लोकसभा क्षेत्र से अपना उम्मीदवार बनाने की घोषणा से वह मजबूती के साथ चुनाव लड़ेंगी।

 

आपको बता दें कि पहली बार 2014 में उन्होंने गाजीपुर लोकसभा से सपा के टिकट पर भाजपा के मनोज सिन्हा के खिलाफ मजबूती से चुनाव लड़ा और मात्र 32452 वोटों से हार गई थीं, अब वह चंदौली में और मजबूती से महेन्द्र नाथ पांडेय तो टक्कर देंगी।

 

 

चुनाव हारने के बाद पांच साल गुमनामी में रहीं शिवकन्या ने मार्च माह में जन अधिकारी पार्टी से चंदौली लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने का ऐलान किया। प्रत्याशी होने से पार्टी कार्यकर्ताओं में उस समय जोश भर गया जब कांग्रेस ने समर्थन देने का ऐलान किया। हालांकि इस समर्थन को कांग्रेसी पचा नहीं पा रहे थे, लेकिन 13 अप्रैल को कांग्रेस की जारी टिकट लिस्ट में उनके नाम की घोषणा होते ही कांग्रेसियों की बांछें खिल उठी हैं।

 

कार्यकर्ताओं ने कहा अब पार्टी मजबूती के साथ चुनाव लड़ेगी। जिले में कुशवाहा मत की अधिकता है, वहीं कांग्रेस कार्यकर्ताओं की भी खासी संख्या है, इसलिए कांग्रेसी इन्हें मजबूत प्रत्याशी मान रहे।

कांग्रेस जिलाध्यक्ष देवेंद्र प्रताप सिंह ने कहा पार्टी सभी लोकसभा सीटों पर अपना प्रत्याशी उतार रही है। शिवकन्या के आने से पार्टी दमदारी से चुनाव लड़ेगी, कार्यकर्ताओं में उत्साह है और सभी लोग अबकी बार चंदौली की संसदीय सीट जीतने की कोशिश करेंगे।