सकलडीहा की सुनैना पटवा एक दिन के लिए बनी कोतवाल

 चंदौली जिले में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 20 नवम्बर को आयोजित होने वाले विश्वबाल दिवस को नारी शक्ति से जोड़ते हुए प्रत्येक थानों में छात्राओं को थानेदार बनाया गया। नारी शक्ति मिशन को और प्रभावी बनाने के लिए छात्राओं की प्रतिभाओं को निखार कर प्रोत्साहन करने का निर्देश दिया गया था। 

जिसके तहत सकलडीहा थाने में ब्रिज नंदनी कन्वेंट स्कूल भोजापुर 10 वीं की छात्रा सुनैना पटवा ने थानेदार का पद संभालते हुए, थानाध्यक्ष वंदना सिंह से कार्यालय के अभिलेखों के संबंध में जानकारी लेते हुए पीड़ितों की फरियाद सुन कर न्याय किया।

 सबसे बड़ी बात यह रही कि जनपद में नारी शक्ति मिशन को प्रभावी बनाने वाली सकलडीहा की थानेदार वंदना सिंह आज एक दरोगा के रूप में रही उनकी जगह सुनैना पटवा थानेदार बनकर थाने का शासन चला रही थी ।

इस दौरान थानेदार के रूप में सुनैना पटवा ने बताया कि थानेदार के रूप में महिलाओं पर विशेष जिम्मेदारी बढ़ जाती है। एक तरफ जहां कानून का पालन कराने के लिए सख्त बनना पड़ता है वहीं दूसरी ओर आज के परिवेश में महिलाओं को लेकर परिवार में नाना प्रकार के विवाद हो रहे हैं उन को समझाने के लिए मासूमियत की भी आवश्यकता है। 

परिजनों को बुलाकर उनकी समस्याओं को सुनते हुए परिवार के विखंडन एवं तनाव तथा वाद विवाद के बाद भविष्य में होने वाले दुष्प्रभाव का हवाला देकर मामले को निस्तारित करने की जरूरत है। इस दौरान थाना अध्यक्ष के रूप में तैनात सुनैना पटवा थाने की गाड़ी से कस्बा का भ्रमण भी किया और लोगों से कानून के साथ-साथ कोविड 19 के नियमों के पालन करने की भी अपील कि। 

इस दौरान थानाध्यक्ष वंदना सिंह, उ0नि0 राजेश सिंह , उ0नि0 भुपेश सिंह, दीवान अनुराग गुप्ता, का0 दुर्गेश , का0 मानवेन्द्र म0का0 वंदना मिश्रा, म0का0 अनीता, म0का0 सरस्वती, आदि लोग यहाँ मौजूद रहे।