कांसेप्ट फोटो

चंदौली जिले के नौगढ़ कस्बा निवासी फल विक्रेता सुरेंद्र गुप्ता ने सोमवार को तड़के फांसी लगाकर खुदकशी कर ली। घटना की जानकारी होने पर पड़ोसियों ने पुलिस को मौके पर बुलाया । पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया है।

बताया जा रहा है कस्बा निवासी सुरेंद्र गुप्ता रविवार की रात करीब आठ बजे दुकान बंद कर किला रोड स्थित अपने घर चला गया। सोमवार को सुबह नौ बजे पत्नी कुसुम गुप्ता अपने मायके सोनभद्र से घर वापस लौटीं तो मुख्य दरवाजा अंदर से बंद देख परेशान हो उठीं। पड़ोसी रोशनदान से घर के भीतर पंखे की कुंडी से सुरेंद्र का लटकता शव देख सन्न रह गए।

 

पत्नी बेसुध होकर जमीन पर गिर पड़ीं। मां देवंती सहित परिजन बिलख पड़े। पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से दरवाजा तोड़कर शव को उतरवाया। बस्ती के रहवासियों के मुताबिक, भाइयों के बीच बंटवारे के बाद मृतक किला रोड स्थित दूसरे मकान में पुत्री सौम्या(3 वर्ष), अबोध पुत्र व पत्नी के साथ रहता था। व्यापार में खासा मुनाफा नहीं होने से सुरेंद्र की आर्थिक हालात ठीक नहीं थी।

 

कस्बावासियों का कहना रहा कि कस्बे में किराए का मकान लेकर सुरेंद्र फल की दुकान खोले थे। उनका स्वभाव मृदुल था। लोगों व ग्राहकों से उनका अच्छा व्यवहार था। एसओ एसएन प्रसाद ने बताया आत्मघाती कदम उठाने के कारणों का पता लगाया जा रहा है।