शिक्षक ने CM को दी नसीहत, चुनाव में भुगतना पड़ सकता है खामियाजा

चंदौली जिले के खंडवारी देवी शिक्षण संस्थान के संस्थापक व चहनियां के निवासी उत्तर प्रदेश माध्यमिक वित्तविहीन शिक्षक महासंघ के अध्यक्ष राजेंद्र सिंह ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को नसीहत देते हुए निवेदन है किया है कि अभी भी वक्त है शिक्षा एवं शिक्षक को अपना परिवार मान लीजिए, एक वर्ष का समय है नहीं आप हाथ मलते नजर आएंगे। जब सत्ता निकल जायेगी तब सारा दोष आप पर ही थोपा जायेगा।

बताते चले कि चहनियां के निवासी उत्तर प्रदेश माध्यमिक वित्तविहीन शिक्षक महासंघ के अध्यक्ष राजेंद्र सिंह ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को नसीहत देते हुए कहा कि प्रदेश सरकार में सबसे उपेक्षित माध्यमिक शिक्षा एवं उच्च शिक्षा प्राइवेट स्कूलों में पढ़ाने वाले शिक्षक एवं कर्मचारी है। जब तक शिक्षक भूखा है ज्ञान का सागर सूखा है। मुख्य मंत्री जी उत्तर प्रदेश सरकार के आप मुखिया हैं। शिक्षा विभाग में चार वर्ष में कितना उत्थान हुआ है आप को पता है। जिस प्रांत में शिक्षा और शिक्षक दोनों लाचार है उस प्रदेश का भगवान ही मालिक है। आप महाज्ञानी होते हुए भी शिक्षा और शिक्षक दोनों की दीनदशा को देख नहीं पा रहे हैं या देखते हुए भी नजर अंदाज कर रहे हैं। अधिकारियों की गलत सलाह को ही आप सही मान रहे हैं। आप की सरकार से लोगों को बहुत ही उम्मीद थी। आप द्वारा कहा भी गया था कि पिछली सरकार से बेहतर करेंगे। लेकिन मजबूरी में कहना पड़ रहा है कि 35वर्षो से मान्यता प्राप्त माध्यमिक वित्तविहीन विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों एवं कर्मचारियों का न तो सेवा नियमावली बनी न ही उन्हें अपनाया ही गया।

आप से निवेदन है कि अभी भी वक्त है शिक्षा एवं शिक्षक को अपना परिवार मान लीजिए एक वर्ष का समय है नहीं आप हाथ मलते नजर आएंगे। जब सत्ता निकल जायेगी तब सारा दोष आप पर ही थोपा जायेगा।