डीएम साहब नौगढ़ में लॉकडाउन जैसी छुट्टी मना रहे हैं मास्टर साहब, मनमाने तरीके से जाते हैं स्कूल

चंदौली जिले के तहसील नौगढ़ में रामराज्य नहीं जंगलराज है, यहां परिषदीय विद्यालयों के खुलने व बंद होने का कोई समय नहीं है। हेड मास्टर अपनी मर्जी से और सहायक अध्यापक अपने टाइम से पारी बांध कर स्कूल आते और जाते हैं।

बताया जा रहा है कि गुरुवार को एक ऐसा ही मामला सामने आया है। ब्लाक नौगढ़ के पूर्व माध्यमिक विद्यालय केसार का ताला सुबह 11 बजे तक नहीं खुला था। बच्चों को तो छोड़िए इस विद्यालय पर नियुक्त सहायक अध्यापक विनय कुमार सिंह तथा कुछ छात्र परिसर में खड़े होकर हेड मास्टर का इंतजार करते नजर आए।

गांव के राम चेला और अभिभावकों ने (चंदौली समाचार) को बताया कि रोजाना स्कूल देर से खुलता है तथा खंड शिक्षा अधिकारी नौगढ़ इसके प्रति गंभीर नहीं है। बहुत सी अनियमितताएं हैं। विद्यालय में कूड़ा और गंदगी है।

खास बात तो यह है कि शिक्षा की गुणवत्ता शून्य के बराबर है। इस मामले में अभिभावकों से बात की गई तो उन्होंने भी रोजाना स्कूल समय से नहीं खुलने का आरोप लगाया।

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी भोलेंद्र प्रताप सिंह ने कहा है कि अगर ऐसा मामला है तो जांच कराएंगे और बेसिक शिक्षा नियमावली के तहत जिम्मेदार लोगों के विरुद्ध कार्यवाही भी होगी।