MLC चुनाव के लिए यह दिशा निर्देश, ट्रेनिंग में दिए गए टिप्स

चंदौली जिले में शिक्षक व स्नातक एमएलसी चुनाव में गड़बड़ी करने वालों पर जोनल, सेक्टर मजिस्ट्रेट व माइक्रो आब्जर्वर की नजर रहेगी। इसको लेकर मुख्यालय स्थित केविके सभागार में सोमवार को प्रशिक्षण दिया गया। मुख्य विकास अधिकारी डा. एके श्रीवास्तव व जिला विकास अधिकारी पदमकांत शुक्ल ने उन्हें दायित्वों के बारे में जानकारी दी।

इस दौरान साथ ही शांतिपूर्ण व निष्पक्ष ढंग से चुनाव संपन्न कराने के निर्देश दिए। चुनाव में किसी तरह की गड़बड़ी होने पर तत्काल कंट्रोल रूम को सूचित करने की सलाह देते हुए कहा कि किसी कीमत पर किसी तरह की लापरवाही न बरतें अन्यथा कर्मचारियों पर भी कार्रवाई होगी।

डीडीओ ने सख्त लहजे में कहा कि एक दिसंबर को एमएलसी पद के लिए वोट पड़ेंगे। चुनाव में शांति बनाए रखने की जिम्मेदारी जोनल व सेक्टर मजिस्ट्रेट की है। मतदान केंद्रों और बूथों का चक्रमण कर हालात का जायजा लेते रहें। चुनाव की प्रक्रिया से पूरी तरह से वाकिफ रहें। ताकि कहीं गड़बड़ी होने पर तत्काल इसे दूर करा सकें। वहीं किसी भी स्थिति में शांति भंग नहीं होनी चाहिए। मतदाताओं की सही ढंग से पहचान की जानी चाहिए। वहीं उन्हें मतदान के बारे में जानकारी दें। ताकि मतदाताओं को परेशान न होना पड़े।

इस मौके पर कहा कि हर बूथ पर माइक्रो आब्जर्वर भी तैनात रहेंगे। पर्यवेक्षक मतदान की पूरी प्रक्रिया पर नजर रखेंगे। किसी भी तरह की गड़बड़ी होने पर तत्काल कंट्रोल रूम को सूचित करेंगे। वहीं उच्चाधिकारियों को भी इसकी जानकारी देंगे। ताकि जल्द से जल्द स्थिति को नियंत्रण में किया जा सके। बोले, पहले प्रत्येक मतदान केंद्र पर एक माइक्रो आब्जर्वर की तैनाती होनी थी। लेकिन निर्वाचन आयोग ने इस बार हर बूथ पर माइक्रो आब्जर्वर को तैनात किया गया जाएगा। ताकि किसी तरह की गड़बड़ी न होने पाए। मतदान को हर हाल में सकुशल संपन्न कराना होगा। उन्होंने बैलेट व टेंडर वोट की प्रक्रिया के बारे में विस्तार से जानकारी दी।