सरकारी विद्यालयों में शिक्षा का लेवल सुधारने के लिए जारी है कवायद, ऐसी हो रही है पहल

सरकारी विद्यालयों में शिक्षा को लेकर हमेशा से आम जनमानस में नाराजगी देखने को मिलता है । लेकिन अब शासन स्तर पर शिक्षा को एक नए सिरे से सुधार करने का प्रयास किया जा रहा है। शनिवार को जिला एवं प्रशिक्षण संस्थान चंदौली को मिशन प्रेरणा के तहत एक नई जिम्मेदारी दी गई है।

बताते चलें कि उत्तर प्रदेश के चयनित जिलों में चंदौली को भी चयनित किया गया है। इसी क्रम में जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान सकलडीहा चंदौली में प्राचार्य की अध्यक्षता में जिला समन्वयक प्रशिक्षण, समस्त एसआरजी, समस्त डाइट मेंटर तथा समस्त ए आर पी की मासिक मीटिंग संपन्न हुई। जिसमें जनपद को प्रेरक जनपद बनाने हेतु विभिन्न बिंदुओं के क्रियान्वयन के लिए ब्लॉक वार समीक्षा की गई। प्रेरणा लक्ष्य, प्रेरणा सूची ,प्रेरणा तालिका, आधारशिला ,ध्यानाकर्षण,शिक्षण संग्रह, रीड अलोंग एप, दीक्षा एप निष्ठा प्रशिक्षण की प्रगति, ई पाठशाला फेस 2 का शत प्रतिशत समयबद्ध क्रियान्वयन पर भी चर्चा हुई।

वहीं दूरदर्शन तथा रेडियो पर चल रहे शैक्षिक कार्यक्रमों से बच्चों के लाभान्वित होने की स्थिति, सेट टू का वितरण, परियोजना द्वारा भेजी गई शैक्षिक वीडियो को सभी अध्यापकों को देखने, अध्यापकों द्वारा शिक्षण योजना बनाने, विद्यालय की अवस्थापना सुविधाओं की स्थिति, शिक्षक संकुल की प्रतिमाह समयानुसार बैठक आयोजित कराने की स्थिति सहित इत्यादि बिंदुओं की समीक्षा की गई। साथ ही प्रत्येक माह निर्धारित सपोर्टिव सुपरविजन करने तथा सपोर्टिव सुपरविजन के दौरान कतिपय विद्यालयों का बंद मिलना तथा कुछ अध्यापकों का विद्यालय में उपस्थित नहीं रहने की शिकायत की गई। वही प्राचार्या संगीता चौधरी ने बताया कि समुचित समाधान करने, तत्काल उचित कार्यवाही करने तथा ऐसे विद्यालयों की सूचना परियोजना में प्रेषित करने की बात कार्यवाही की जाएगी।

एसआरजी जयप्रकाश यादव द्वारा प्रेरणा लक्ष्य को प्राप्त करने हेतु ए आर पी एवं डायट मेंटर द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना करते हुए इसमें और प्रगति लाने का आह्वान किया गया। इस मौके पर वरिष्ठ प्रवक्ता पारसनाथ, वरिष्ठ प्रवक्ता माया सिंह, प्रवक्ता राजेश सिंह, प्रवक्ता जयंत कुमार, प्रवक्ता बैजनाथ, प्रवक्ता बिजेंद्र भारती, प्रवक्ता नीली श्रीवास्तव, एसआरजी जयप्रकाश यादव, ए आर पी उमेश कुमार सिंह, जिला समन्वयक प्रशिक्षण मनोज सिंह डीसी, इत्यादि अधिकारी मौजूद रहे।