अभी तक उजाला देवी की हत्या का कोई सुराग नहीं खोज पायी पुलिस

चंदौली जिले के धानापुर थाना क्षेत्र के भदाहू गांव की निवासिनी लापता मंद बुद्धि उजाला देवी का शव क्षत विक्षत हालत में नहर ने मिलने के बाद अभी तक हत्या के कारणों का पता नहीं चल पाया। परिजन न्याय के लिए दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हो गये हैं।

भदाहू गांव के रामाश्रय राम अपनी भतीजी की हत्या के कारणों का पता लगाने एवं अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए धीना व धानापुर थाना सहित एसपी सीओ के यहाँ तक गुहार लगा कर थक चुके हैं।

सकलडीहा सीओ के कार्यालय पर पहुंचकर पीड़ित परिवार सीओ साहब का इंतजार करता रहा लेकिन अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचे, जिससे उनके अंदर आक्रोश है।

पीड़ित रामाश्रय ने बताया कि मेरी भतीजी 26 जनवरी को सुबह शौच करने के निकली थी, तभी से वह लापता हो गई। उसको खोजने के बाद 28 तारीख को धानापुर थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई गई। हम लोग उसे खोजते रहे लेकिन 11 फरवरी को धीना थाना क्षेत्र के जनौली गांव के समीप नहर में एक लाश मिली थी, जिसकी पहचान हमारी भतीजी उजाला के रूप में हुई। शव को प्लास्टिक के बारे में क्षत-विक्षत अवस्था में मूंज की रस्सी से बाध कर फेंका गया था।

पीड़ित का आरोप है कि जब गुमशुदगी दर्ज कराई गई, उसके बाद भी संबंधित थाना एक्शन नहीं लिया। मंदबुद्धि लड़की का अपहरण के बाद हत्या कर दिया गया और आज तक पुलिस केवल टालमटोल कर रही है। जिससे परिवार आहत है। अपराधी खुलेआम इस तरह की अपराधी घटनाओं को अंजाम दे रहे और पुलिस मूकदर्शक बनी है।