चंदौली जिले की चकिया कोतवाली अंतर्गत गढ़वा गांव निवासी रवि कुमार उर्फ राजू (12) की जान चोर-सिपाही के खेल में अचानक चल गयी गोली से हुई है।

बताया जा रहा है कि मंगलवार को पुलिस ने घटना का खुलासा करते हुए हत्यारोपित बालक के चाचा अमित कुमार को उंचेहरा गांव स्थित पुलिया से गिरफ्तार कर लिया और उसकी निशानदेही पर चरी के खेत में छिपा कर रखी प्रयुक्त भरूई बंदूक को बरामद कर लिया गया।

बलिया ग्राम पंचायत के गढ़वा बस्ती निवासी रवि कुमार उर्फ राजू की गोली लगने से हुई मौत के मामले में पुलिस ने बारह घंटे के भीतर खुलासा कर दिया। पुलिस की तफ्तीश में मृतक रवि कुमार के पिता पांचू राम व हत्या आरोपित बालक पिन्चू चौहान के पिता चंद्रभान चौहान ट्रक के चालक हैं। दोनों लोगों का घर बिल्कुल सटा होने के साथ ही घरेलू संबंध बेहतर हैं।

बताया जा रहा है कि घटना के दिन चंद्रभान के घर पिन्चू व पांचू का पुत्र रवि, बेटी स्नेहा, छोटा पुत्र पिन्टू सहित बस्ती के अन्य बच्चे चोर-सिपाही का खेल खेलते खेलते घर में बने पटनी पर पहुंच गए। पटनी पर रखे भरूई एक नाली बंदूक से खेलने लगे। बंदूक पिन्चू के हाथ में होने के दौरान बच्चे छीना झपटी करने लगे। इस बीच अचानक गोली चल गई और रवि कुमार की सीने को छलनी करते हुए निकल गई है। इससे रवि कुमार की मौके पर ही मौत हो गई। यह देख बच्चे चीखते चिल्लाते हुए भाग खड़े हुए।

इस घटना से गांव में कोहराम मच गया। घटना में मृतक बालक के पिता पांचू की तहरीर पर पुलिस ने हत्यारोपित बालक पिचू के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई में जुट गई। घटना के बारह घंटे के भीतर पुलिस ने हत्यारोपित बालक के चाचा को गिरफ्तार करते हुए प्रयुक्त असलहा बरामद कर लिया।

मामले की जानकारी देते हुए कोतवाल रहमतुल्लाह खान ने बताया कि घर में अवैध असलहा रखना गैरकानूनी है। इसके लिए भी कार्रवाई की जाएगी।