सावधान :फरवरी में होगी यूपी बोर्ड की प्रैक्टिकल परीक्षा, आ गए हैं यह आदेश

चंदौली जिले के साथ साथ अन्य जिलों में यूपी बोर्ड की इंटरमीडिएट की प्रयोगात्मक परीक्षा कोरोना के चलते इस बार विलंब से होगी। फरवरी में प्रयोगात्मक परीक्षा प्रस्तावित है। ऐसे में माध्यमिक शिक्षा परिषद ने 31 जनवरी तक सभी प्रयोगात्मक कार्य पूर्ण कराने के निर्देश दिए हैं।

स्पष्ट किया है कि वाह्य परीक्षकों से कराई जाने वाली प्रयोगात्मक परीक्षा की सभी तैयारी पहले ही पूरी कर ली जाए, ताकि एन वक्त पर किसी तरह का व्यवधान न आने पाए।

संक्रमण काल में स्कूलों के बंद रहने के चलते शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह लड़खड़ा गई। शासन के निर्देश के क्रम में एक अक्टूबर से माध्यमिक स्कूलों में पठन-पाठन शुरू हुआ। वहीं बोर्ड परीक्षा की तैयारी भी शुरू कर दी गई है।

इसके लिए बोर्ड ने जिला विद्यालय निरीक्षक को प्रधानाचार्यों संग बैठक कर प्रयोगात्मक परीक्षा को सकुशल संपन्न कराने की रणनीति तैयार करने का निर्देश दिया है। परिषद ने यह भी कहा है कि हाईस्कूल 2021 की परीक्षा में शामिल होने वाले संस्थागत व व्यक्तिगत छात्रों के प्रोजेक्ट कार्य को भी 30 फीसद तक कम किए गए पाठ्यक्रम के अनुसार पूरा करा लिया जाए। साथ ही हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के छात्रों के नैतिक योग, खेल व शारीरिक शिक्षा के प्राप्तांकों को भी 15 फरवरी तक परिषद की वेबसाइट पर अपलोड करा दें।

इसके अलावा माध्यमिक शिक्षा परिषद ने बोर्ड परीक्षा के लिए केंद्रों के निर्धारण की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इसके लिए जिला विद्यालय निरीक्षक को पत्र भेजकर स्कूलों में आधारभूत सुविधाओं के बाबत पांच दिसंबर तक रिपोर्ट मांगी गई है। डीआइओएस ने प्रधानाचार्यों को स्कूलों में स्थान, कक्ष, शौचालय, पेयजल, प्रकाश, उत्तर पुस्तिकाओं को प्रश्न पत्रों को रखने के लिए सुरक्षित स्थान आदि के बारे में सूचनाएं परिषद की वेबसाइट पर आनलाइन अपलोड करने का निर्देश दिया है। 10 दिसंबर तक सूचनाएं जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में भी उपलब्ध करानी होगी। परीक्षा केद्रों की घोषणा के बाद दावे व आपत्तियां मांगी जाएंगी। जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गठित समिति सभी पहलुओं पर विचार करने के बाद अंतिम निर्णय लेगी।

जिला विद्यालय निरीक्षक डा. विनोद राय ने कहा कि प्रयोगात्मक परीक्षा व परीक्षा केंद्रों के निर्धारण को लेकर परिषद से निर्देश प्राप्त हुए हैं। प्रधानाचार्य निर्धारित अवधि तक सूचना वेबसाइट पर अपलोड कर दें। साथ ही कार्यालय में भी उपलब्ध कराएं। ताकि आगे की प्रक्रिया पूरी की जा सके। इसमें किसी भी तरह की देरी व आनाकानी न करें।