ओवरटेक कर टैंकर ने दो को कुचला,जीजा की दर्दनाक मौत, साला बुरी तरह से घायल

चन्दौली जिले के बलुआ थाना क्षेत्र के पपौरा में ओवरटेक कर टैंकर ने शुक्रवार की दोपहर में युवक वकील राजभर ( 27 ) को कुचल दिया, जिससे युवक की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गयी। पीछे बैठा साला अरबिंद राजभर ( 24 ) बुरी तरह से घायल हो गया । इसके बाद टैंकर चालक वहाँ से फरार हो गया।

घटना के बाद आक्रोशित ग्रामीण पपौरा व बीसापुर में चक्का जाम कर दिया। घटना की सूचना पर थानाध्यक्ष सूर्य प्रताप सिंह, एसडीएम प्रदीप कुमार व विधायक प्रभु नारायण सिंह यादव ने मौके पर पहुंचे मामले को शांत कराने की कोशिश की। एसडीएम व विधायक के आश्वासन पर भीड़ शांत हुई ।

बताया जा रहा है कि बीसापुर ( मथेला ) गांव के रहने वाले वकील राजभर पुत्र स्व0 रामनरेश घर पर गाड़ी मैकेनिक का काम करता है । वहीं साथ में रहकर साला अरबिंद राजभर वाहन बनाना सीख रहा था । कुछ सामान घटने पर वकील अपने साले को लेकर सकलडीहा से सामान खरीदकर वापस आ रहा था। चन्दौली वाया चहनियां मुख्य मार्ग पर पपौरा गांव के समीप जल्दी जाने के चक्कर मे तेज स्पीड में टैंकर चालक एक वाहन को ओवरटेक कर जीजा व साले को रौंदते हुए फरार हो गया।

हादसे में जीजा की तत्काल घटना स्थल पर मौत हो गयी। वहीं साला बुरी तरह से घायल हो गया । घटना की जानकारी जैसे ही ग्रामीणों को हुई घटना स्थल पर चक्का जाम कर दिये। वहीं घटना स्थल से डेढ़ किलोमीटर दूर बीसापुर गांव में भी ग्रामीणों ने मुख्य मार्ग पर चक्का जाम कर दिया ।

घटना की सूचना पर पहुचे बलुआ थानाध्यक्ष सूर्य प्रताप सिंह ने काफी समझाने की कोशिश की । लेकिन ग्रामीण जिला अधिकारी को बुलाने की मांग पर अड़े रहे । कुछ देर बाद पहुचे एसडीएम सकलडीहा प्रदीप कुमार ने समझाया । ग्रामीण अपने मांग पर अड़े रहे । विधायक प्रभु नारायण सिंह यादव जब घटना स्थल पर पहुचकर ग्रामीणों को समझाया । तब जाकर ग्रामीण शांत हुए ।

एसडीएम ने दुर्घटना की 5 लाख देने व किसान बीमा व अन्य बातों पर बाद में वार्ता कर सुलझाने व टैंकर चालक की गिरफ्तारी के आश्वासन पर ग्रामीण वापस हो गए। बलुआ थानाध्यक्ष ने क्रिया कर्म के लिए तत्काल 10 हजार रुपये का सहायता प्रदान किया व शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं बुरी तरह से घायल को जिला चिकित्सालय भेजा दिया।

वकील राजभर तीन भाइयों में सबसे छोटा था। दो भाई मुंबई में रहते हैं। पूरे परिवार का भरण पोषण मृतक वकील ही करता था। इनके एक छोटी बेटी वर्षा है । मौत की खबर मिलते ही परिजनों में हाहाकार मच गया । मां लक्ष्मीना देवी का रोकर बुरा हाल रहा । पत्नी रीमा रो रोकर बेहोश हो जा रही थी । बहन आरती व भारती का भी रोकर बुरा हाल रहा ।

मौके पर पहुचे बिधायक प्रभु नारायण सिंह यादव ने जनपद के प्रसासनिक अधिकारियो पर आरोप लगाया कि ट्रक व टैंकर चलने की कोई समय सीमा नहीं है। इसमें अधिकारी जिम्मेदार हैं। सकलडीहा व चहनियां चौराहे पर लगी सीसी कैमरा भी गायब हो गया है। उसे लगाने की जरूरत नहीं समझी गयी। जनपद के हालात खराब हो चुके हैं। ना ही ट्रकों और ना ही टैंकरों पर कोई कमांड रह गया है। सारा दोष जनपद के अधिकारियों का है।