खुशखबरी : सरेसर व अलीनगर में टाउन प्लानिंग के तहत बसने जा रहा है बेहरीन शहर

चंदौली जिले में टाउन प्लानिंग स्कीम अब जनपद के सरेसर व अलीनगर में आकार लेगी। इसके लिए कंसल्टेंट के एक्सपर्ट कर्मियों ने मंगलवार को ड्रोन उड़ाकर सर्वे किया। इस क्षेत्र के लगभग 70 प्रतिशत किसान राजी भी हो गए हैं। गौरतलब है कि किसानों की सहमति और उनकी उत्सुकता को देखते हुए वाराणसी विकास प्राधिकरण के माध्यम से कंसलटेंट के एक्सपर्ट कर्मियों ने ड्रोन उड़ाकर वहां करीब 300 हेक्टेयर एरिया का सर्वे किया।

उम्मीद है कि सबसे पहले यहीं यह योजना आकार लें। हालांकि इस बीच वीडीए ने उम्मीदें रिंग रोड पर भी नहीं छोड़ी है। वहां भी अगले सप्ताह ड्रोन उड़ाने की तैयारी है। एनएच-19 और एन एच 2 को जोड़ने वाले इन दोनों ही मौजो में वीडीए वीसी ने एसडीएम को भेजकर भौतिक सत्यापन कराते हुए किसानों के सामने योजना को रखा था। उनमें से 70 प्रतिशत किसान योजना को लेकर आशान्वित व राजी हैं। करीब 300 हेक्टेयर में आकार लेने वाले टाउन प्लानिंग स्कीम का ड्रोन से सर्वे करने के लिए गुजरात की राजधानी अहमदाबाद से नेक्टर इंजीनियरिंग एंड प्रोजेक्ट कंसलटेंसी के तीन एक्सपर्ट के अलावा भारी भरकम टीम बनारस में दो दिनों से डेरा डाली है।

मंगलवार की सुबह टीम वीडीए की टीम मुगलसराय नगरपालिका परिषद के वार्ड के अंर्तगत स्थित सरेसर व अलीनगर में पहुंची और ड्रोन से सर्वे किया।वीडीए के वीसी राहुल पांडेय ने बताया कि टीम करीब एक सप्ताह वहां रहेगी और हर बिंदुओं पर पड़ताल करने के बाद वह रिंग रोड के अलावा शहर के अन्य कई हिस्सों की भी पड़ताल करेगी। जहां बेहतर जगह चिन्हित होगा वहां सरकार की मंशा के अनुरूप टीपीएस योजना को आकार दिया जाएगा।

टाउन प्लानिंग स्कीम यानी टीपीएस एक ऐसा मॉडल शहर होता है। जिसे सुनियोजित ढ़ंग से बसाया जाता है। इस मॉडल शहर में विद्यालय, खेल मैदान, कर्मिशियल एक्टिविटीज के साथ ही शहर की आधुनिक एवं आधारभूत संरचनाएं तैयार की जाती है। जिससे वहां बसे लोगों को बेहतर एवं उम्दा नगरीय सुविधाएं मिलती है।

Ads by Google Ads By  Google Download The App Now