कहीं मतदान के अधिकार से वंचित न रह जाएं सरैया गांव के मतदाता, डीएम से गांव के लोगों की गुहार

चंदौली जिले के चकिया पंचायत चुनाव की घोषणाएं अभी भले ही नहीं हुई है, मगर संभावित चुनाव देखते हुए गांव में चुनाव की तैयारी में लगे प्रत्याशियों ने अपनी-अपनी तैयारी तेज कर दी है। वहीं चंदौली जिला के शहाबगंज विकासखंड स्थित सरैया गांव में मतदाता पुनः निरीक्षण कार्य में किसी की ड्यूटी न लगाए जाने से वोटर लिस्ट संसोधन का कार्य अधर में पड़ा हुआ है। जिससे चुनाव लड़ने की तैयारी में लगे प्रत्याशियों का जुगाड़ फेल होता दिखाएं देने लगा है। यही कारण है कि चुनाव लड़ने की तैयारी में लगे प्रत्याशियों में रोष व्याप्त है।

विदित हो कि इन दिनों जिले के हर गांव में मतदाता पुनः निरीक्षण का कार्य चल रहा है। जिसके लिए प्रत्येक गांव में बीएलओ की ड्यूटी लगाई गई है। बीएलओ डोर टू डोर जाकर वोटर लिस्ट संशोधन का कार्य कर रहे हैं। वही 18 वर्ष पूरा कर चुके युवाओं को मतदाता सूची में नाम दर्ज करने का कार्य पूरा करने में लगे हुए हैं। इसी क्रम में सरैया गांव में भी बीएलओ शबाना की ड्यूटी लगाई गई थी, मगर उनके मातृत्व अवकाश पर चले जाने के कारण गांव में मतदाता पुनः निरीक्षण का कार्य अधर में पड़ा हुआ है। जबकि पंचायत चुनाव नजदीक आता दिखाई दे रहा है। 

ऐसे में सरैया गांव में वोटर लिस्ट बनाने का कार्य अधूरा पड़ने से बहुत से मतदाताओं को जहां अपने अधिकार से वंचित होना पड़ सकता है, वही कुछ ऐसे मतदाता भी हैं जिनको मृत्यु उपरांत भी सूची में नाम रहने की मजबूरी बनी हुई है।

पूर्व ग्राम प्रधान अशोक कुमार गुप्त, अरुण कुमार, विजय कुमार आदि ने जिला प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराते हुए सरैया गांव में मतदाता सूची संशोधन तथा नया नए वोटरों का नाम जोड़ने की कार्यवाही पूर्ण कराए जाने का मांग किया है।