चंदौली के एक दो नहीं, डेढ़ दर्जन गांवों की वोटर लिस्ट में है हेराफेरी, तेज हुयी जांच व कार्रवाई की मांग

चंदौली जिले की सदर तहसील में पैसे लेकर वोटर लिस्ट की हेराफेरी के खिलाफ शिकायतों का दौर बढ़ने लगा है। जिले के सदर और बरहनी विकास खंड के एक दर्जन से ज्यादा गांवों की मतदाता सूची में हुई गड़बड़ी की शिकायत ग्रामीणों ने डीएम से की थी। इसपर डीएम ने जांच करने की जिम्मेदारी सदर एसडीएम को दिया था। लेकिन मंगलवार को जांच की कार्रवाई न होने पर नाराज ग्रामीणों ने निर्वाचन कार्यालय पर पहुंचकर प्रदर्शन किया।

गांव के लोगों ने जमकर नारेबाजी कर प्रशासनिक अधिकारियों पर घालमेल करने का आरोप लगाया। कहा इसमें लिप्त अधिकारियों और कर्मचारियों को बचाने का प्रयास किया जा रहा है।

इन गांवों में हुआ है खेल

सदर ब्लाक के जसुरी, धुरीकोट, सवैयां पट्टीदारी, जसौली, जरखोर, फुटियां, पड़यां, मुस्तफापुर, सुल्तानपुर, गोडारी, सलेमपुर, मचियां और बरहनी विकास खंड के भतीजा, ककरहीं, मानिकपुर सहित अन्य गांवों के मतदाता सूची में भारी अनियमितता की गई है। साथ ही मिलीभगत कर सैकड़ों मतदाताओं के नाम काट दिए गए हैं।

इससे भड़के ग्रामीणों ने कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन करते हुए डीएम से शिकायत की थी। डीएम से मामले की जांच कर कार्रवाई की जिम्मेदारी सदर एसडीएम विजयनारायण को सौंपी है। डीएम आदेश पर सदर एसडीएम ने सोमवार को निर्वाचन कार्यालय में घंटों जांच पड़ताल की। साथ ही मतदाता सूची कक्ष को सील कर वेंडर को तलब कर सूची मंगाई। ताकि जांच की प्रक्रिया पूरी की जा सके। साथ ही दोषी पाए जाने पर संबंधित अधिकारियों और कर्मचारियों के विरुद्ध कार्रवाई की जा सके।

मंगलवार को वेंडर आजमगढ़ से सूची लेकर अधिकारियों के समक्ष प्रस्तुत हुआ। लेकिन जांच की कार्रवाई आगे नहीं बढ़ायी गई। इससे इसपर नाराज ग्रामीणों ने निर्वाचन कार्यालय पर पहुंचकर प्रदर्शन किया। इस दौरान जांच में घालमेल करने का आरोप लगाया। साथ ही उच्चाधिकारियों से निष्पक्ष जांच कराए जाने की मांग की।

इस मौके पर ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि संजय सिंह बबलू, अखिलेश सिंह, डब्लू सिंह, विकास सिंह, अशोक सिंह, अभिषेक सिंह, छैबर राम, छोटू सिंह, रिंकू सिंह, बृजेश सिंह आदि लोग मौजूद रहे।