मिलावटी शराब की बिक्री हुई तो संबंधित थानेदार भी नपेंगे, जारी है छापेमारी

चंदौली जिले में मिलावटी शराब की बिक्री हुई तो संबंधित थानेदार के खिलाफ कार्रवाई होना तय है। उसके लिए अधिकारियों को सचेत करने के साथ साथ संबंधित जानकारी देने का कार्य किया जा रहा है। सूबे में मिलावटी शराब पीने से लगातार मौतों के बाद चंदौली जिला प्रशासन खास तौर पर अलर्ट हो गया है और पिछले दो दिनों से लगातार आबकारी विभाग के साथ पुलिस व प्रशासनिक टीम शराब की दुकानों में छापेमारी कर रही है।

मिलावटखोरी को लेकर संबंधित थानाध्यक्ष की जवाबदेही भी तय कर दी गई है। दुकानों से सैंपल लिए जा रहे हैं। मिलावट पाए जाने पर अनुज्ञापी व सेल्समैन पर मुकदमा होगा। संबंधित एसओ के खिलाफ शासन को रिपोर्ट भी भेजी जाएगी।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई जिलों में जहरीली शराब पीने से लोगों की मौत हो गई। वहीं पिछले दिनों मिलावटी शराब पीने से प्रयागराज में आधा दर्जन से अधिक लोगों ने दम तोड़ दिया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की। वहीं मिलावटी शराब की बिक्री पर हर हाल में रोक लगाने के निर्देश दिए थे। ऐसे में जिला प्रशासन भी अलर्ट हो गया है। आबकारी विभाग की टीम के साथ पुलिस व प्रशासनिक अफसर दुकानों की छानबीन कर रहे हैं।

कहा जा रहा है कि जिले में छापेमारी के लिए जिले में चार टीमें गठित की गई हैं। टीम में एसडीएम, आबकारी अधिकारी, सहायक आबकारी अधिकारी, सीओ, आबकारी निरीक्षक व संबंधित थानाध्यक्ष को शामिल किया गया है। दुकानों में खासतौर से मिलावटी शराब की जांच की जा रही है। दुकानों के स्टाक रजिस्टर व उपलब्ध माल का मिलान किया जा रहा है। इसमें भिन्नता पाए जाने पर कार्रवाई करने की तैयारी है। साथ ही दुकानों का लाइसेंस भी रद्द होगा। वहीं अनुज्ञापी व सेल्समैन के खिलाफ मुकदमा होगा। इस तरह की सख्ती से दुकानदारों में खलबली मची है।