Winters Diet: सर्दियों में नहीं पड़ना बीमार तो भूलकर भी ना खाएं ये 10 चीजें

सर्दी में कम तापमान का असर बॉडी के इम्यून सिस्टम पर पड़ता है. इसका मतलब ये हुआ कि किसी भी मौसम की तुलना में लोगों के बीमार पड़ने का खतरा इस वक्त सबसे ज्यादा होता है. इस मौसम में बीमारियों से बचने के लिए आपको अपनी डाइट (Food avoid in winters) का खास ख्याल रखना चाहिए. हेल्थ एक्सपर्ट की राय है कि सर्दी के मौसम में हमें कुछ चीजें खाने से सख्त परहेज करना चाहिए.

हेल्थ एक्सपर्ट की मानें तो डाइट में बहुत ज्यादा मीठा खाने से हमारा इम्यून सिस्टम कमजोर होता है. एक स्टडी के मुताबिक, ज्यादा मीठा खाने वाले लोगों में बैक्टीरिया के कारण होने वाली बीमारियों से लड़ने की क्षमता खत्म हो जाती है. हमें कमर्शियल फ्रूट जूस, सॉफ्ट ड्रिंक और हाई शुगर वाले फूड से दूर रहना चाहिए.

किसी भी मौसम में फ्राई फूड ना खाने की सलाह अक्सर लोगों को दी जाती है. लेकिन ऐसे खाने का सबसे बुरा असर सर्दियों में ही होता है. फ्राई फूड में बहुत ज्यादा फैट होता है, जो ना सिर्फ इन्फ्लेमेशन की समस्या का कारण बनता है, बल्कि छाती में फ्लूड (बलगम) की दिक्कत भी बढ़ाता है.

हिस्टामिन इम्यून सिस्टम से बनने वाला एक ऐसा यौगिक है जो अवांछित पदार्थों से शरीर की सुरक्षा करता है. खाने की कुछ चीजों जैसे कि अंडा, मशरूम, टमाटर, पालक, ड्राय फ्रूट्स और यॉगर्ट में इसकी मात्रा काफी ज्यादा होती है, जो बलगम की समस्या बढ़ा सकते हैं. रिस्पिरेटरी से जुड़ी समस्या होने पर ये सर्दियों में बड़े कष्टकारी हो सकते हैं.

डेयरी में वो सभी गुण पाए जाते हैं जो सेहतमंद रहने के लिए बहुत जरूरी हैं. हालांकि सर्दी के मौसम में डॉक्टर डेयरी प्रोडक्ट का सेवन ना करने की सलाह देते हैं. दरअसल, डेयरी प्रोडक्ट्स की तासीर ठंडी होती है, जिसकी वजह से इसका सेवन शरीर में कफ बनाने का काम करता है. इससे गले में खराश, कफ और कोल्ड की दिक्कत हो सकती है.

सर्दी के मौसम में अक्सर लोग कॉफी, चाय, हॉट चॉकलेट ज्यादा पसंद करते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं इन सभी चीजों में मौजूद फैट और कैफीन शरीर को डी-हाइड्रेट कर देता है, जिसकी वजह से हमें कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं.

ऑफ सीजन में फ्रूट्स और सब्जियां खाने पर पहले बहुत ज्यादा ध्यान नहीं दिया जाता था, लेकिन अब कुक बुक में इसका काफी ध्यान रखा जाता है. हेल्थ एक्सपर्ट की मानें तो हमें ऑफ सीजन के फल और सब्जियां खाने से बचना चाहिए, क्योंकि फ्रेश ना होने की वजह से ऐसे फल और सब्जियां हमारी सेहत के लिए हानिकारक हो सकते हैं.

गर्मियों के मौसम की तुलना में सर्दियों में स्ट्रॉबेरी के रंग में थोड़ा पीलापन आ जाता है. स्ट्रॉबेरी के रंग का सीधा कनेक्शन इसके फाइटोन्यूट्रिएंट्स तत्व से होत है. ज्यादा गहरे रंग का मतलब ज्यादा न्यूट्रिएंट्स. इसलिए इसे गर्मी के मौसम में ही खाना ज्यादा बेहतर है.

खाने में थोड़ा तीखापन सर्दियों में आपकी बंद नाक को राहत दे सकता है, लेकिन ये आपके पेट के लिए काफी खतरनाक होता है. इसलिए बेहतर होगा कि आप ज्यादा तीखा खाने की बजाय आसानी से डायजेस्ट होने वाली चीजें खाएं. इस मौसम में मिर्च की बजाय गर्म तासीर की चीजों को डाइट में शामिल करें.

बाजार में मिलने वाली पैकेट और पहले से कटी हुई सब्जियां आपका काम कम कर सकती है, लेकिन सर्दियों में इनका सेवन सेहत के लिए काफी खतरनाक हो सकता है. इस मौसम में पैकेट बंद सब्जियां बिल्कुल ना खरीदें. ताजी सब्जियों को घर लाकर अच्छी तरह धोएं और फिर काटकर बनाएं.

रेड मीट और अंडे में सबसे ज्यादा प्रोटीन पाया जाता है. लेकिन सर्दी के मौसम में ज्यादा प्रोटीन के सेवन से आपकी छाती में बलगम की समस्या बढ़ सकती है. मीट की बजाए आप मछली का सेवन कर सकते हैं. हालांकि मछली में भी प्रोटीन होता है, लेकिन इसे खाने से सेहत को किसी तरह की परेशानी नहीं होती है.

सौजन्य से
शान्ति क्लीनिक सम्राट भवन धानापुर चंदौली